women empowerment essay

Women Empowerment Essay in Hindi & English for Students

If you are a student or teacher who is searching for women empowerment essay and want to write long or short essay on women empowerment in english in india in English or Hindi so this post is for you.

In this post, we are providing you short and long essay on women empowerment in India for upsc, ssc or classes 1, 2, 3, 4 & 5th 6th, 7th, 8th, 9th & 10th Classes in English and Hindi.

With this post, you can able to write essay on women empowerment in 300, 500 words.

Women Empowerment Essay in English

Introduction

Women Empowerment refers to the creation of an environment for women where they can make decisions of their own for their personal benefits as well as for the society.

Importance of Women Empowerment

A lot is being heard these days on the need for the empowerment of women.

With regards to current scenario the question arises that “Are women become really strong? Many programs have been implemented and run by the government such as international Women’s Day, Mother’s Day etc.

in order to bring awareness in the society about the true rights and value of the women in the
development of the nation.

Causes/Problems of Women Empowerment

There is a high level of gender inequality in India where women are ill treated by their family members and outsiders.

The percentage of literate population in India is around 74% in which 65% is covered by women.

The real meaning of the women empowerment is to make them well educated and leave them free so that they can be capable of taking their own decisions in any field.

Women had equal status with men in ancient times though the low position in medieval period to the promotion of equal rights in modern times.

In modern India, women have held high offices including that of the President, Prime Minister, Speaker of the Lok Sabha, Leader of the Opposition, Union Ministers, Chief Ministers and Governors.

There are currently 5 female chief ministers in India. Women in India now participate fully in areas such as education, sports, politics, media, art and culture, service sectors, science and
technology, etc.

During the British Raj, many reformers such as Ram Mohan Roy, Ishwar Chandra Vidyasagar and Jyotirao Phule fought for the betterment of women.

CONCLUSION – Women Empowerment

According to a report by Thomson Reuters, India is the “fourth most dangerous country” in the world for women, India also noted as the worst country for women among the G20 countries.

Crime against women such as rape, acid throwing, dowry killings, honor killings, and the forced prostitution of young girls has been reported in India.

India needs to take some advance steps to improve the women’s position in the society through the proper health, higher education,
and economic participation.

It may be said that women are county’s fate let them be great.

women empowerment essay

महिला सशक्तिकरण निबंध -Women Empowerment Essay in Hindi

प्रस्तावना (introduction)

नारी सशक्तिकरण के नारे के साथ एक प्रश्न उठता है कि “क्या महिलाएँ सचमुच में मजबूत बनी है” और “क्या उसका लंबे समय का संघर्ष खत्म हो चुका है”।

राष्ट्र के विकास में महिलाओं की सच्ची महत्ता और अधिकार के बारे में समाज में जागरुकता लाने के लिये मातृ दिवस, अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस आदि जैसे कई सारे कार्यक्रम सरकार द्वारा चलाये जा रहे और लागू किये गये है।

महिला सशक्तिकरण का महत्व

महिलाओं को कई क्षेत्र में विकास की जरुरत है। अपने देश में उच्च स्तर की लैंगिक असमानता है जहाँ महिलाएं अपने परिवार के साथ ही बाहरी समाज के भी बुरे बर्ताव से पीड़ित है।

नारी सशक्तिकरण का असली अर्थ तब समझ में आयेगा जब भारत में उन्हें अच्छी शिक्षा दी जाएगी और उन्हें इस काबिल बनाया जाएगा कि वो हर क्षेत्र में स्वतंत्र होकर फैसले कर सकें।

‘सशक्तिकरण’ से तात्पर्य किसी व्यक्ति की उस क्षमता से है जिससे उसमें ये योग्यता आ जाती है जिसमें वो अपने जीवन से जुड़े सभी निर्णय स्वयं ले सके।

महिला सशक्तिकरण में भी हम उसी क्षमता की बात कर रहे है जहाँ महिलाएँ परिवार और समाज के सभी बंधनों से मुक्त होकर अपने निर्णयों की निर्माता खुद हो।

अपनी निजी स्वतंत्रता और स्वयं के फैसले लेने के लिये महिलाओं को अधिकार देना ही महिला सशक्तिकरण है।

समस्याएं – महिला सशक्तिकरण

लैंगिक असमानता भारत में मुख्य सामाजिक मुद्दा है जिसमें महिलाएँ पुरुषवादी प्रभुत्व देश में पिछड़ती जा रही है।

पुरुष और महिला को बराबरी पर लाने के लिये महिला सशक्तिकरण में तेजी लाने की जरुरत है। सभी क्षेत्रों में महिलाओं का उत्थान राष्ट्र की प्राथमिकता में शामिल होना चाहिये।

महिला सशक्तिकरण में ये ताकत है कि वो समाज और देश में बहुत कुछ बदल सकें।

वो देश और परिवार के लिये अधिक जनसंख्या के नुकसान को अच्छी तरह से समझ सकती है।

अच्छे पारिवारिक योजना से वो देश और परिवार की आर्थिक स्थिति का प्रबंधन करने में पूरी तरह से सक्षम है।

महिला सशक्तिकरण के द्वारा ये संभव है कि एक मजबूत अर्थव्यवस्था के महिला- पुरुष समानता वाले वाले देश को पुरुषवादी प्रभाव वाले देश से बदला जा सकता है।

महिला सशक्तिकरण की मदद से बिना अधिक प्रयास किये परिवार के हर सदस्य का विकास आसानी से हो सकता है।

एक महिला परिवार में सभी चीजों के लिये बेहद जिम्मेदार मानी जाती है।

अत: वो सभी समस्याओं का समाधान अच्छी तरह से कर
सकती है। महिलाओं के सशक्त होने से पूरा समाज अपने आप सशक्त हो जायेगा।

उपसंहार (CONCLUSION)

भारत में, महिलाओं को सशक्त बनाने के लिये सबसे पहले समाज में उनके अधिकारों और मूल्यों को मारने वाले उन सभी राक्षसी सोच को मारना जरुरी है।

जैसे दहेज प्रथा, अशिक्षा, यौन हिंसा, असमानता, भ्रूण हत्या, महिलाओं के प्रति घरेलू हिंसा, वैश्यावृति और मानव तस्करी।

लैंगिक भेदभाव राष्ट्र में सांस्कृतिक, सामाजिक, आर्थिक और शैक्षिक अंतर ले आता है जो देश को पीछे की ओर ढकेलता है।

भारतीय समाज में सच में महिला सशक्तिकरण लाने के लिये महिलाओं के खिलाफ बुरी प्रथाओं के मुख्य कारणों को समझना और उन्हें हटाना होगा।

जरुरत है कि हम महिलाओं के खिलाफ पुरानी सोच को बदले और संवैधानिक और कानूनी प्रावधानों में भी बदलाव लायें।

If you want to write an essay on a particular topic, then tell us, you can directly through contact us page

or you can also tell your topic in the comment section on which you want to write thanks.

Read More Essays;

Short & Long Essay on Environmental Pollution in 150, 500 Words

Essay on My School for Students 6, 7, 8, 9, 10 and 11th Classes

Essay On Republic Day 26th January – The Republic Day of India

2 thoughts on “Women Empowerment Essay in Hindi & English for Students”

Leave a Comment